Visitors :
  • 04:34 am | 04 June, 2020 | Thursday

ब्रेकिंग न्यूज़ :

उधम सिंह नगरविविध

फर्जी प्रमाण-पत्र बनाकर आंगनबाड़ी कार्यकत्री का पद लिया -आरटीआई के तहत मांगी गयी सूचना से हुआ खुलासा -सम्बंधित विभाग बचाने में लगा है, आरटीआई कार्यकर्ता ने कहा यदि बाप-बेटी पर कार्यवाही नहीं हुई तो हाईकोट की शरण लेगा, -आरटीआई कार्यकर्ता को जान से मारने की

Share on:

गदरपुर। पूरा मामला खानपुर कलकत्ता आंगनवाड़ी केंद्र का है। जिसमे फर्जी आय प्रमाण पत्र के आधार पर आंगनवाड़ी कार्यकत्री का पद लिया गया। मामले का खुलासा तब हुआ जब उसी गांव के रहने वाले ने उसी केंद्र पर अपनी पुत्री के लिए सहायिका पद के लिए आवेंदन किया। तब आंगनवाड़ी कार्यकत्री ने अपने ही भाभी को उक्त पद पर लगवाने के लिये फिर से  फर्जी दस्तावेजों के आधार पर बीपीएल से भी कम आय का प्रमाण पत्र बनवा लिया। जिलाधिकारी के आदेश पर जांच के बाद उक्त प्रमाण पत्र को निरस्त कर दिया गया। क्योंकि मामले में आय प्रमाण पत्र बनाने वाले लाभार्थि के पिता स्वयं है। जिसने अपने ही हाथ से तहसीलदार पटवारी कानूनगो आदि के हस्ताक्षर कर आय प्रमाण पत्र बना कर अपनी पुत्री को नौकरी दिलवाई थी।  वही काम पुनः दोहरा रहा था। जब शंका हुई तो पीड़ित व्यक्ति आटीआई कार्यकर्ता विश्वनाथ के पास मदद के लिए आया। जैसा कि विदित हो विश्वनाथ किसी भी गरीब पीड़ित की मदद में सदैव तत्पर रहते हैं। उनके द्वारा पीड़ित व्यक्ति को आरटीआई का मेटर बना कर दिया गया। जिसमें फर्जी कार्यकत्री के सभी दस्तावेज पीड़ित व्यक्ति को मिल गये। पुनः आगे की कार्यवाही के लिए उक्त व्यक्ति विश्वनाथ के पास गया जिसमें उन्होंने उसे कानूनी कार्यवाही के लिए अपने मित्र वकील जितेंद्र कुमार के पास भेजा दिया। जिससे यह मामला उच्च न्यायालय चला गया। और वर्तमान में विचाराधीन है। जब उक्त बातें फर्जी आय बनाने वाले अंगनावड़ी कार्यकत्री के पिता को चली तो उन्होंने विश्वनाथ सहित जितेंद्र और पीड़ित व्यक्ति खानपुर निवासी सतनाम चंद को जान से मारने की धमकी दे डाली।  इसकी जानकारी होते ही जितेंद्र ने अपने नाम से उक्त व्यक्ति कश्मीर सिंह की फर्जी आय बना कर अपनी पुत्री को नौकरी दिलाने की शिकायत कर दी साथ ही एसएसपी को भी कश्मीर सिंह पर आईपीसी की धारा  420 के अंतर्गत कार्यवाही करने के लिए पत्र लिख दिया।  मामले में जब जांच हुई तो वास्तव में उक्त प्रमाण पत्र फर्जी पाया गया, और तहसीलदार द्वारा रिपोर्ट गदरपुर बाल विकास को भेज दी गयी। लेकिन बाल विकास परियोजना अधिकारी ने उक्त रिपोर्ट को उच्च अधिकारियों को भेजने की बजाय अपने पास ही दबा लिया।  जब इसकी जानकारी जितेंद्र कुमार को हुई तो उन्होंने आरटीआई सूचना के तहतं विभाग से अपने पत्र पर हुई कार्यवाही के बारे में पूछ लिया। इससे विभाग के हाथ पांव फूल गये और उसने गदरपुर बाल विकास परियोजना अधिकारी से उक्त फर्जी कार्यकत्री पर कार्यवाही नही किये जाने के कारण समेत तीन दिन में उनका स्पष्टीकरण मांग लिया है । अब देखना है कि विभाग आखिर कब तक उक्त कार्यकत्री को बचाता है। शिकायत कर्ता जितेंद्र ने कहा है कि अगर विभाग बाप बेटी दोनों के खिलाफ कानूनी कार्यवाही नही करेगा तो वह स्वयं मामले को उच्च न्यायालय तक ले जाएगा।
 

खबरें

महामारी के बावजूद कृषि विभाग कर रहा है बेहतरीन कार्य 

गदरपुर। कोरोना महामारी के बावजूद लगे हुए लॉक डाउन के बाद भी क्षेत्र में कृषि विभाग अपनी बेहतरीन सेवाएं दे रहा है। नगर के खंड विकास कार्यालय में स्थित कृषि विभाग के कार्यालय में कृषि अधिकारी अनिल अरोरा ने बताया कि लॉक डाउन के बावजूद कृषि विभाग बेहतरीन सेवाएं दे रहा है लॉक डाउन के बाद विभिन्न प्रकार की सेवाएं उपलब्ध कराने में हमारे विभाग ने कोई कोर कसर नहीं छोड़ रखी है हमारे विभाग में फसलों की कटाई के बाद मृदा परीक्षण तथा मृदा कार्ड बनाने का काम इस समय जब सभी गांव में चल रहा है साथ ही कीटनाशकों का वितरण दवाइयों का वितरण तथा खास तैयारी की व्यवस्था देखने में कृषि विभाग अपनी पूरी सफाई दे रहा है तो किसानों में जागरूकता बढ़ाने के साथ ही विभिन्न प्रकार की योजनाओं को धरातल पर लागू करने में भी अहम भूमिका निभा रहा है जैसे कि कृषि उपकरणों के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन जो कि पूर्व में ऑफलाइन होते थे अब वर्तमान में ऑनलाइन हो रहे हैं कृषि यंत्रों के साथ ही कंपोस्ट वर्मी कंपोस्ट बनाने की जानकारी भी उपलब्ध कराई जा रही है।
 

विडियों देखने के लिये लिंक पर क्लिक करें।

https://youtu.be/kLSc-jQ2pEk

पालिका बोर्ड की बैठक में विभिन्न विकास कार्य व निर्माण कार्य के प्रस्ताव पारित किये गये - वर्ष 2020-21 के लिये एक लाख 99 हजार 410 का आय-व्यय के लिये बचत का अनुमानित बजट पास किया गया

गदरपुर। नगरपालिका बोर्ड की हुई बैठक में विभिन्न निर्माण कार्य एवं विकास कार्यो पर चर्चा की गयी। वही वर्ष 2019-2020 के लिए वास्तविक आय-व्यय पर वर्ष 2020-21 के अनुमानित आय-व्यय का विवरण सदन में प्रस्तुत करने के उपरान्त 1.99410 लाख रुपये का आय-व्यय के लिये बचत का अनुमानित बजट पारित किया गया। बुधवार को पालिका बोर्ड की बैठक पालिका सभागार में पालिकाध्यक्ष गुलाम गौस की अध्यक्षता मंे आयोजित की गयी। बैठक की कार्यवाही से पूर्व विगत बैठक कार्यवाही की पुष्टि की गयी। इसके उपरान्त बैठक की अग्रिम कार्यवाही प्रारम्भ हुई। बैठक में वर्ष 2019-20 में 14वें वित की द्वितीय किश्त 77.65 लाख एवं वर्ष 2020-21 में 15वें वित्त आयोग की प्रथम किश्त 53 लाख रुपये से नगर की स्ट्रीट लाइट व्यवस्था हेतु एलईडी लाइटें आवश्यकता अनुसार क्रय करने एवं अवशेष धनराशि से विकास कार्य कराये जाने का सर्व सम्मति से प्रस्ताव पारित किया गया। इसके अलावा कोविड-19 महामारी लाकडाॅउन में ठेका न कराये जाने के कारण नगर की सफाई व्यवस्था एवं स्ट्रीट लाइट की व्यवस्था की मरम्मत की व्यवस्था के ठेके की माह सितम्बर तक की स्वीकृति प्रदान की गयी। प्रधानमंत्री आवास योजना एवं व्यक्तिगत शौचालय योजना के अंतर्गत अवशेष भुगतान की कारवाई संपादित करने की अनुमति प्रदान की गयी। कोराना वायरस से बचाव हेतु कीटनाशक, एन्टी वायरस आदि कर्मिकों के सुरक्षा उपकरण के क्रय विक्रय की स्वीकृति प्रदान की गयी।  नगर को ग्रीन सिटी व क्लीन सिटी बनाये जाने के लिये नगर में फूलदार/छायादार के लिये करीब 1000 वृक्ष लगाये जाने का प्रस्ताव भी कियो गया। बैठक समाप्त होने के दौरान सभासद वार्ड न0 9 मीनाक्षी श्रीवास्तव के ससुर के आकस्मिक निधन होने पर दो मिनट का मौन रखकर शोक संवेदना भी प्रकट की गयी। बैठक में मुख्य रुप से अधिशासी अधिकारी हरि चरण सिंह, वरिष्ठ लिपिक एसपी गुप्ता, विजेन्द्र कुमार, सभासद अमरजीत सिंह, परमजीत सिंह पम्मा, जुनैद अंसारी, सतीश कुमार मिड्ढा, रोहित कुमार सुदामा, मनोज गुंबर, ऋषभ कंबोज, मीनाक्षी श्रीवास्तव, लीना संजीव झाम, मंजू रानी आदि मौजूद थे।

 
 

मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजनान्तर्गत जनपद के स्थाई निवासी बेरोजगार अनुसूचित जाति/जनजाति आवेदन पत्र जारी

रुद्रपुर। उत्तराखण्ड सरकार द्वारा संचालित मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजनान्तर्गत जनपद के स्थाई निवासी बेरोजगार अनुसूचित जाति/जनजाति एवं अन्य जातियों के नवयुवक/नवयुवतियों से वित्तीय सहायता हेतु वर्ष वर्ष 2020-21 के लिये आवेदन आमंत्रित किये जाने है। जानकारी देते हुए महाप्रबन्धक जिला उद्योग केन्द्र सीएस वोहरा ने बताया आनलाइन आवेदन हेतु www.msy.uk.gov.in मे लाॅगइन कर सकते है। उन्होने बताया आवेदन करने के उपरान्त प्रथम आवत प्रथम पावत के आधार पर आवेदन पत्र बैंको को प्रेषित किया जायेगा। उन्होने बताया योजना के अन्तर्गत विनिर्माणक, सेवा एवं व्यवसाय हेतु ऋण दिया जाना है। इसके उपरान्त किये गये आवेदन पर विचार नही किया जायेगा। उन्होने बताया आवेदन हेतु विस्तृत परियोजना रिपोर्ट, जन्मतिथि प्रमाण पत्र, शैक्षिक योग्यता प्रमाण पत्र, जाति प्रमाण पत्र, दिव्यांग श्रेणी प्रमाण पत्र, अधिवास प्रमाण पत्र राशन कार्ड की प्रमाणित प्रति तथा शपथ पत्र प्रस्तुत करना होगा। उन्होने बताया अधिक जानकारी के लिए उद्यमी अपने-अपने फील्ड स्टाफ से सम्पर्क कर सकते है। जसपुर हेतु कुमकुम पोखरिया मो0न0-94105-80378, काशीपुर हेतु सी0एस0 बोहरा मो0न-94589-24093, बाजपुर/गदरपुर हेतु अखिलेश पाण्डेय मो0नं0-99270-58357, रूद्रपुर हेतु पी0एस0भोज मो0नं0-94121-25204 तथा सितारगंज व खटीमा हेतु सी0एस0नेगी मो0नं0-94113-74800 पर सम्पर्क कर सकते है।

करीब 49 प्रवासियों को अन्य राज्यों से वापस लाया गया

रूद्रपुर। प्रदेश सरकार के पहल पर देश/प्रदेश के अन्य क्षेत्रों से लाॅक डाउन में फंसे प्रवासी उत्तराखण्ड वासियों/जनपद वासियों का लगातार आगमन प्रारम्भ है। उक्त जानकारी देते हुये उप सम्भागीय परिवहन अधिकारी (प्रवर्तन) संदीप सैनी ने बताया आज राधास्वामी सत्संग ब्यास यात्री बेस कैम्प में राज्य के अन्य जनपदो/अन्य राज्यो से 49 लोग यहां पहुंचे जिसमें रामपुर बार्डर से 13, ऋषिकेश से 01, कानपुर से 12, पुलभट्टा बार्डर से 05, अल्मोडा से 01, हल्द्वानी से 04 तथा बहेडी से 13 लोग पहुंचे जबकि कल देर रात देहरादून से ट्रेन द्वारा 67 यात्री आये थे जिन्हे राधास्वामी सत्संग, रूद्रपुर मे क्वारंटीन किया गया है। उन्होने बताया राधास्वामी सत्संग, रूद्रपुर से 35 लोगो को हल्द्वानी, 02 लोगो को लखनउ, 36 लोगो को बहेडी तथा 01 को रामपुर बार्डर विभिन्न वाहनो द्वारा अपने गन्तव्य को भेजा गया जबकि जनपद से 152 लोगो को जनपद के अन्तर्गत विभिन्न स्थानों मे भेजा गया। श्री सैनी ने बताया राधास्वामी सत्संग पहुचने पर यहां पहुंच रहे सभी लोगों का मेडिकल टीम की देख-रेख में थर्मल स्केनिंग तथा स्वास्थ परीक्षण किया गया व उनको सोशल डिस्टेन्स आदि का भी अनुपालन कराया गया। सभी यात्रियो की भोजन, पानी की व्यवस्था की गयी।

बिना वैधानिक पास के बाजार में घूमने वाले दोपहिया एवं चैपहिया वाहनों के खिलाफ चला चेकिंग अभियान - सात बजेे बाद घूमने पर होगा चालान - 23 वाहनों के चालान कर 11500 रुपये एवं बिना मास्क पहने हुए 6 लोगों के चालान कर 1500 रुपए का संयोजन शुल्क वसूला गया

गदरपुर। अगर आपको शाम 7 बजे के बाद बिना किसी कार्य के घर से बाहर निकलने का शौक है तो आप अपनी आदत को बदल दीजिए कोविड-19 वैश्विक महामारी के चलते सरकार द्वारा घोषित लाँकडाउन के बाद अनलॉक वन के पहले चरण में पुलिस प्रशासन द्वारा सुबह सात बजे से शाम सात बजे के बाद बाजार में बिना वैधानिक पास के घूमने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई अमल में लाई जा रही है।
पुलिस प्रशासन द्वारा थानाध्यक्ष जसविंदर सिंह के दिशा निर्देश पर नगर की गूलरभोज मोड़ तिराहे पर सघन वाहन चेकिंग अभियान चलाकर बिना वैधानिक पास के आवागमन कर रहे हैं दो पहिया एवं चैपहिया वाहनों के चालान काटे गए जिससे वाहन चालकों में हड़कंप मच गया। बीते मंगलवार को गूलरभोज मोड तिराहे पर पुलिस टीम द्वारा सघन वाहन चेकिंग अभियान के दौरान एसएसपी बरिंदरजीत सिंह भी मौके पर पहुंच गए और उन्होंने बिना वैधानिक पास के आवागमन कर रहे दो पहिया एवं चैपहिया वाहनों को रुकवा कर उनके चालकों को कड़ी फटकार लगाई और अधीनस्थ पुलिसकर्मियों को वाहन सीज करने के सख्त दिशा-निर्देश दिए। वाहन चेकिंग अभियान के दौरान पुलिस टीम ने 23 वाहनों के चालान कर 11500 रुपये एवं बिना मास्क पहने हुए 6 लोगों के चालान कर 1500 रुपए का संयोजन शुल्क वसूल किया वाहन चेकिंग अभियान के दौरान पुलिस टीम ने पांच वाहन सीज किए जबकि दो वाहनों का कोर्ट चालान किया गया। चेकिंग अभियान के दौरान थानाध्यक्ष जसविंदर सिंह उपनिरीक्षक जगदीश चंद्र तिवारी, शंकर सिंह रावत, जितेंद्र खत्री, सिपाही विनोद कुमार, कमलेश नेगी, विवेक कुमार, होमगार्ड दीपक शर्मा, पुलिस सारथी जसपाल डोगरा, एसपीओ जोगिंदर सिंह, रविंदर सिंह एवं राजवीर सिंह आदि मौजूद थे। 

पालिका कार्यालय में ऑटोमेटिक टच फ्री हैंड सेनीटाइज डिस्पेंसर का शुभारंभ 

गदरपुर(संवाद-सूत्र)। कोविड-19 वैश्विक महामारी के बढ़ते हुए संक्रमण से नगर की जनता को बचाने के लिए नगर पालिका प्रशासन द्वारा जहां सफाई कर्मचारियों और पर्यावरण मित्रों के सहयोग से नगर के विभिन्न वार्डों में सफाई व्यवस्था को दुरुस्त किया जा रहा है। वहीं नगर पालिका कार्यालय में आने वाले लोगों के स्वास्थ्य और सेहत का भी ध्यान रखा जा रहा है। मंगलवार को पालिकाध्यक्ष गुलाम गौस एवं अधिशासी अधिकारी हरि चरण सिंह द्वारा पालिका कार्यालय में ऑटोमेटिक टच फ्री हैंड सेनीटाइज डिस्पेंसर का शुभारंभ किया गया। पालिकाध्यक्ष गुलाम गोस ने बताया कि पालिका प्रशासन द्वारा कार्यालय में आने वाले वार्ड वासियों एवं कर्मचारियों की सुविधा के लिए ऑटोमेटिक टच फ्री हैंड सेनीटाइज डिस्पेंसर को लगवाया गया है जिससे यहां आने वाले प्रत्येक व्यक्ति को ऑटोमेटिक टच फ्री हैंड सेनीटाइज डिस्पेंसर से अपने हाथों को सैनिटाइज कर कोरोनावायरस जैसे संक्रमण को रोकने में मदद मिलेगी, साथ ही साथ लोगों में कोविड-19 वैश्विक महामारी की रोकथाम के प्रति जन जागरूकता भी बढ़ेगी। इस अवसर पर पालिका अध्यक्ष प्रतिनिधि तारिक उल्ला खान, वरिष्ठ लिपिक एसपी गुप्ता, सीताराम सिंह चैहान, जयपाल शर्मा, अशोक बांगा एवं विजेंद्र कुमार आदि मौजूद थे।
 

डाक्टर की लापरवाही से युवक की मौत - चिकित्सक की लापरवाही से युवक की मौत के मामले की जांच शुरू

किच्छा (संवाद-सूत्र)। हल्द्वानी मार्ग स्थित आराध्या पाॅलीक्लिनिक में चिकित्सक द्वारा इंजेक्शन लगाने के बाद हुई युवक की मौत के बाद सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंची स्वास्थ्य विभाग की दो सदस्यो की टीम ने जांच शुरू करते हुए मृतक के दादा के बयान दर्ज किये। विदित हो की 25 मई को आवास विकास किच्छा निवासी विनोद आयलानी के 18 वर्षीय पुत्र सौरभ आयलानी की तबीयत बिगड़ने परिजन उसे हल्द्वानी मार्ग स्थित आराध्या पाॅलीक्लिनिक ले गए थे जहां चरण सिंह ने इलाज करते हुए उसे इंजेक्शन लगाकर घर भेज दिया था। परिजनों के अनुसार इंजेक्शन लगने के कुछ घंटों बाद ही सौरभ की तबियत बिगड़ गई। जिसके बाद उसे रुद्रपुर के निजी चिकित्सालय ले जाया गया जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। परिजनों का आरोप था कि चरण सिंह द्वारा एक्सपाइरी डेट का इंजेक्शन लगाया गया था। इस मामले में परिजनों की शिकायत के बाद आज स्वास्थ्य विभाग की टीम ने जांच आगे बढ़ाते हुए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे जहां पर अतिरिक्त मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ. उदय शंकर व वरिष्ठ सहायक डाॅ. शंकर गुप्ता ने मृतक सौरभ के दादा वासुदेव आयलानी के बयान दर्ज किये। फिलहाल लिखित बयान को उच्च अधिकारियों को भेज आगे की कार्रवाई तय होगी। इस दौरान किच्छा सरकारी अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक एच सी त्रिपाठी भी मौजूद थे।
 

मल्सा गोलीकाण्ड के मुख्य आरोपी सहित दो गिरफ्तार

रूद्रपुर(सूत्र-संवाद)। मल्सा गिरधरपुर में हुए बहुचर्चित गोलीकाण्ड के मामले में पुलिस ने मुख्य आरोपी सहित दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों के पास से देशी पिस्टल और चार कारतूस बरामद किये हैं। बता दें 4 मई की रात को ग्राम मलसा गिरधरपुर में दो पक्षों के बीच चल रहे विवाद के बाद एक पक्ष ने घर में घुसकर हमला कर दिया था और जमकर फायरिंग भी की थी। जिसमें मदन लाल खुराना और उनके पुत्र गगन खुराना गंभीर रूप से घायल हो गये थे। जिन्हें जिला अस्पताल भर्ती कराया गया था। इस मामले में नितिश बठला की तहरीर के आधार पर पुलिस ने सात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया। यह मामला खासा सुर्खियों में रहा था। गोलीकाण्ड की घटना के बाद घटना की जानकारी लेने गांव में पहुंचे पूर्व मंत्री तिलकराज बेहड़ समेत कई लोगों के खिलाफ भी पुलिस ने मुकदमा भी दर्ज किया था। आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर बेहड़ ने एसएसपी कार्यालय के समक्ष धरना भी दिया था। गोलीकाण्ड के मामले मुख्य आरोपी खमरिया निवासी मोनू खान पुत्र मुन्ने खान अभी तक फरार चल रहा था। बीती रात पुलिस को सूचना मिली कि मोनू खान और उसका साथी गांव में बाईक पर घूम रहे हैं। जिस पर कोतवाल केसी भट्ट के नेतृत्व में पुलिस टीम गांव में पहुंची। पुलिस को देखकर मोनू खान और उसका साथी बंटी भागने लगे। पुलिस टीम ने दोनों को पीछा करके दबोच लिया। मोनू के कब्जे से देशी पिस्टल के साथ ही चार कारतूस बरामद किये गये। दोनों को पुलिस ने जेल भेज दिया है। पकड़ने वाली पुलिस टीम में एसएसआई भुवन चन्द्र,बगवाड़ा चैकी इंचार्ज नवीन बुधानी, एएसआई चन्द्रप्रकाश बवाड़ी, कांस्टेबल गणेश पाण्डे, चंद्रशेखपर टाकुली, मनोज कुमार आदि शामिल थे।
 

चार सूत्रीय मांगों को लेकर काग्रेसियों ने दिया सांकेतिक धरना

गदरपुर (संवाद-सूत्र)। गरीब, मजदूर व श्रमिक वर्ग को 10000 रुपये की एकमुश्त न्याय राशि और 6 महीने तक कम से कम 7500 रुपए की धनराशि देने, मनरेगा में कम से कम 1 वर्ष में 200रुपये प्रति दिन रोजगार उपलब्ध कराने, लाॅक डाउन के दौरान बाहरी राज्यों से आने वाले प्रवासियों हेतु बनाए गए क्वारंटीन सेंटरों में पर्याप्त सुविधाएं मुहैया कराने एवं किसानों की फसलों को समुचित मुआवजा दिलाए जाने की चार सूत्रीय मांगों को लेकर युवक कांग्रेस कमेटी के प्रांतीय आवाहन पर युवक कांग्रेस के प्रदेश सचिव मोहनीश चैधरी उर्फ मन्नू के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने कंबोज धर्मशाला में प्रातः 11ः00 बजे से 12ः00 बजे तक सांकेतिक धरना दिया। उन्होंने कहा कि लाॅक डाउन के चलते प्रदेश के गरीब, मजदूर और श्रमिक वर्ग की कमर बुरी तरह टूट चुकी है जिनको सरकार द्वारा एकमुश्त 10000 रुपये की न्याय राशि देनी चाहिए और आगामी 6 महीने तक कम से कम 7500 रुपये भी उपलब्ध कराना चाहिए। उन्होंने कहा कि मनरेगा में काम करने वाले प्रत्येक मजदूर को वर्ष में करीब 200 रुपये प्रतिदिन तक रोजगार की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए ताकि वह अपने परिवार का पालन पोषण कर सकें। सांकेतिक धरना प्रदर्शन के दौरान कार्यकर्ताओं ने कहा कि प्रदेश के सभी क्वाॅरेंटाइन सेंटरों की स्थिति बेहतर बनायी जाए और बाहर से आए प्रवासियों के रहन सहन व खानपान की उचित व्यवस्था होनी चाहिये। युवक कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सरकार से किसानों की खराब हुई फसलों का भी उचित मुआवजा दिये जाने की मांग को दोहराया। सांकेतिक धरना प्रदर्शन के दौरान पूर्व सभासद मोहम्मद आलम, कांग्रेस कमेटी के जिला उपाध्यक्ष सिद्धार्थ भुसरी, संगम बत्रा, शिवम गगनेजा एवं साहिल कुमार आदि उपस्थित थे।
 

उत्तराखण्ड में 41 कोरोना पाँजीटिव मरीज मिले - मरीजों का आकाड़ा 999 पहुँचा

देहरादून। उत्तराखंड में मंगलवार दोपहर तक 41 कोरोना पॉजिटिव मामले सामने आए। कुल मरीजों की संख्या 999 पहुंच गई है। जिनमें 243 मरीज ठीक हो चुके हैं। आज देहरादून में 25, टिहरी में 11, चमोली में तीन और हरिद्वार में एक मरीज मिला है। देहरादून में आज मिले 25 संक्रमित मुंबई से लौटे हैं।वहीं एक मरीज सब्जी मंडी में मिले संक्रमित के संपर्क में आने से पॉजिटिव हुआ है। हरिद्वार और टिहरी में मिले सभी संक्रमित मुंबई से लौटे हैं। दोपहर दो बजे जारी स्वास्थ्य विभाग के बुलेटिन से इन मामलों की पुष्टि हुई है। वहीं कल रात मेडिकल कॉलेज हल्द्वानी में एक कोरोना संक्रमित मरीज की मौत हो गई। डॉक्टरों ने मौत का कारण कार्डियो रेस्पिरेटरी अरेस्ट बताया है। उक्त मरीज चंपावत का था।